Shighrapatan Ki Desi Dawa

Shighrapatan Ki Desi Dawa

शीघ्रपतन की देसी दवा

शीघ्रपतन-

आज की फास्ट और भागदौड़ भरी जिंदगी में पुरूषों की सेक्स समस्या में प्रमुख समस्या शीघ्रपतन बन गई है। इस समस्या में संभोग के दौरान पुरूष का स्खलन शीघ्र हो जाता है, जिस कारण उसकी महिला साथी असंतुष्ट रह जाती है और पुरूष को शर्मिंदगी का बोझ उठाना पड़ता है। आमतौर पर यह समस्या कोई इतनी बड़ी चिंताजनक बात नहीं है। मगर फिर भी अगर इस पर नियंत्रण न किया जाये, तो आगे चलकर ये बहुत बड़ी समस्या बन सकती है।

आइए जानें प्रमुख कारण-

अमूमन शीघ्रपतन रोग के कारणों का कोई पक्का और ठोस प्रमाण नहीं मिलता है। सेक्स रिलेशनशिप बनाने का अनुभव और उम्र के साथ-साथ कई पुरुष लम्बे समय तक सेक्स का सुख भोगते हैं। अक्सर नई पार्टनर(स्त्री) के साथ सेक्स के दौरान बहुत ज्यादा उत्तेजना के कारण ‘अर्ली डिस्चार्ज’ हो जाता है। कभी-कभी चिंता, परेशानी और बेचैनी यानी घबराहट जैसी मानसिक परेशानियों के कारण भी वीर्य का जल्दी स्खलन हो जाता है।

मानसिक विकार : कई मामलों में पुरूषों की मानसिक तनाव भी उनमें तुरन्त वीर्यपात की समस्या का कारण बन जाती है। ये सभी मानसिक कारण उन पुरुषों को भी प्रभावित करते हैं, जिनका पहले वीर्य स्खलन पर अच्छा नियंत्रण होता था।

कभी-कभी पुरूष का अनाड़ियों की तरह स्त्री के साथ संभोग करने से भी यह रोग हो जाता है। किस तरह स्त्री के साथ संभोग के दरौन टाइमिंग को बढ़ाना है उन्हें इस बात की जानकारी या अनुभव नहीं होता। उन्हें बस चरम तक पहुंचने की जल्दी होती है और इसी चक्कर में उनका जल्दी स्खलन हो जाता है।

अत्यधिक उत्तेजना : कई बार संभोग के लिए पुरूषों में इतनी ज्यादा उत्तेजना और उत्सुकता भर जाती है कि वो स्त्री के सम्पर्क में आकर कुछ सैकण्डों में ही स्खलित हो जाते हैं।

घबराहट : संभोग के दौरान मन में किसी प्रकार की घबराहट और डर हो, तो भी वीर्य जल्दी स्खलित हो जाता है।

तनाव : तनाव भी इस रोग का मुख्य कारण है। अगर आप किसी स्त्री के साथ संभोगरत हों और मन में किसी प्रकार की गहरी चिंता या तनाव हो, तो भी आप जल्दी स्खलित हो जायेंगे।

चिकित्सीय कारण-

1. डायबिटीज(मधुमेह)
2. हाई ब्लड पे्रशर
2. मल्टीप्ल स्क्लेरोसिस
3. पुरस्थग्रंथि(प्रोस्टेट ग्लैंड) में विकार
4. थायराइड की परेशानी
5. गलत दवाओं का सेवन
6. अत्यधिक शराब पीना

शीघ्रपतन की समस्या का समाधान-

अधिकतर केस में यह परेशानी मनोवैज्ञानिक कारणों से होती है, जिसे पुरूष अपनी लाइफ स्टाईल सुधार कर या उसमें बदलाव करके बड़ी सरलता से दूर कर सकते हैं।
मगर इसके लिए कुछ विशेष बातों का ध्यान रखना जरूरी है, जो इस प्रकार है-

1. शराब बिल्कुल छोड़ दें या फिर इसकी मात्रा बहुत कम कर दें।
2. तम्बाकू धूम्रपान और गलत दवाओं का सेवन बंद कर दें।
3. चरमोत्कर्ष पर पहुंचने से पहले कुछ देर के लिए रुकें।
4. अत्यधिक उत्तेजना पर कंट्रोल बनाये रखने के लिए मोटे परत वाले निरोध(कंडोम) का प्रयोग करें।
5. सेक्स संबंध स्थापित करने से पहले हस्तमैथुन कर लें।
6. लगभग 15 मिनट फोरप्ले करने बाद सेक्स करें।

आजकल बाजार में कई तरह के प्रोडक्ट(क्रीम, जेल और स्प्रे) मौजूद हैं, जिनसे आप तुरन्त वीर्यपात की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। ये क्रीम, जेल और स्प्रे लिंग में उत्तेजना को कम कर इस रोग की समस्या का अस्थायी समाधान करते हैं। लिंग पर लगायी जाने वाली ये दवाएं पुरुष के साथ-साथ उसकी पार्टनर(स्त्री) की उत्तेजना को भी कम कर देती है।
मगर फिर भी हमारी आपको विशेष सलाह है कि इस प्रकार के किसी भी बाजारू प्रोडक्ट या दवा का सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक के मिलकर उसकी राय जरूर लें। इस रोग की रोकथाम के लिए डाॅक्टर की सलाह व राय लिए बिना किसी भी तरह के दवा का इस्तेमाल न करें।

यह आर्टिकल आप shighrapatan.com पर पढ़ रहे हैं..

घरेलू नुस्खों से उपचार :

Shighrapatan Ki Desi Dawa

1. हरे प्याज के बीज :
इस रोग की समस्या में रोगी को हरे प्याज के बीजों का सेवन करना चाहिए, इससे उसकी ‘अर्ली डिस्चार्ज’ की समस्या में काफी हद तक आराम पहुंचेगा। हरे प्याज के बीजों में मौजूद aphrodisiac गुण ‘अर्ली डिस्चार्ज’ की परेशानी से मुक्ति दिलाने में बहुत हद तक मददगार साबित होते हैं। इन हरे प्याज के बीजों को सही से पीसकर पानी में अच्छी तरह से मिला लें और हर रोज दिन में तीन बार इस मिश्रण का सेवन खाना खाने से पहले करें।

2. अश्वगंधा :
पुरुषों में सेक्स संबंधी समस्याओं को दूर करने में इस जड़ी-बूटी का प्रयोग काफी असरकारी सिद्ध होता है। इस जड़ी-बूटी में मौजूद तत्व पुरुषों के अंगों को शक्ति प्रदान करते हैं और इसके साथ ही सेक्स क्षमता भी बढाते हैं। प्राकृतिक एफ्रोसोडिएक(काम शक्ति बढाने वाले औषधि) मानी जाने वाली अश्वगंधा का सेवन ‘अर्ली डिस्चार्ज’ के समस्या के लिए भी बहुत लाभदायक फायदेमंद सिद्ध होता है। अगर आप बाजार में अश्वगंधा लेने जायेंगे, तो यह आपको चूर्ण या कैप्सूल की शक्ल में प्राप्त होगा। मगर इसके(अश्वगंधा) प्रयोग से पहले ये बहुत जरूरी है कि आप अपने डाॅक्टर से मिलकर उनकी सलाह लें।

Shighrapatan Ki Desi Dawa

3. शहद और अदरक :
शहद और अदरक को एक साथ खाने से पुरूषों में शीघ्र स्खलन की समस्या धीरे-धीरे समाप्त हो जाती है। अदरक जो है, वो पुरूष के लिंग में रक्त-संचार की मात्रा को बढ़ा देता है, जिससे वीर्य स्खलन को कंट्रोल करने में काफी हद तक सहायता मिलती है।
शहद भी एक नेचुरल एफ्रोसोडिएक माना जाता है और अदरक के साथ मिश्रित होने पर इसकी क्वालिटी और भी बढ़ जाती है। एक चम्मच शहद और उतनी ही मात्रा में अदरक का सेवन साथ-साथ करने से अतिशीघ्र तो नहीं, पर कुछ दिनों बाद असर अवश्य दिखायी देगा।

4. लहसुन :
लहसुन खाने से पुरूषांग(लिंग) में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ जाता है और इसीलिए यह शीघ्र स्खलन की समस्या से पीड़ित व्यक्तियों के लिए औषधि की तरह काम करता है। शीघ्र स्खलन की परेशानी से छुटकारा पाने के लिए रोजाना लहसुन की 3-4 कलियां खाएं।

5. गाजर, अंडा और शहद :
एक अंडा लें और कच्चा-सा उबाल लें। यानी कम उबालेें। उसके बाद उस अंडे को कद्दूकस(ग्रेटेड) किये गाजर में मिला लें। अब इस मिश्रण के ऊपर से तीन चम्मच शहद डाल कर अच्छे से मिला लें। इस मिश्रण का सेवन हर रोज नियमित रूप से तीन महीने तक करें। ऐसा निरंतर करते रहने पर जब आपको महसूस होने लगे कि आप में सुधार हो रहा है, तो आहिस्ता-आहिस्ता अंडे खाना बंद कर दें।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.. http://chetanclinic.com/

Summary
Shighrapatan Ki Desi Dawa
Article Name
Shighrapatan Ki Desi Dawa
Description
केवल पुरूषों के लिए हिंदी में ब्लाॅग, जानिए शीघ्रपतन क्यों होता है? Shighrapatan Ki Desi Dawa
Author
Publisher Name
Chetan Anmol Sukh
Publisher Logo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »