Shighrapatan Ka Gharelu Ilaj

Shighrapatan Ka Gharelu Ilaj

शीघ्रपतन क्या होता है?

शीघ्रपतन (Premature Ejaculation) एक ऐसा रोग व समस्या है, जो पुरूषों के साथ घटित होती है। इस रोग में पुरूष, स्त्री अथवा पत्नी के साथ संभोग (Sambhog) करते समय तत्काल स्खलित हो जाता हैै। यानी स्त्री को बिना चरमसुख (Orgasm) प्रदान किये ही उसका वीर्य (Semen) स्खलित हो जाता है, जिस कारण स्त्री की यौन-तृप्ति अधूरी रह जाती है और पुरूष भी सेक्स का पूरा आनंद नहीं उठा पाता है। शीघ्रपतन, सेक्स के समय दो स्थितियों में होता है पहला- योनि में लिंग (Penis) प्रवेश से पूर्व और दूसरा योनि में लिंग प्रवेश के तुरन्त बाद। कई पुरूषों में तो यह समस्या इतनी गंभीर होती है कि वे केवल स्त्री की कल्पना व स्पर्श मात्र से ही स्खलित हो जाते हैं और उनके संभोग का सफर अस्वाद और अधूरा ही रह जाता है।

आप यह हिंदी लेख Shighrapatan.com पर पढ़ रहे हैं..

शीघ्रपतन क्यों होता है?

वैसे तो शीघ्रपतन के लिए जिम्मेदार कई कारण हो सकते हैं, लेकिन कुछ मुख्य कारण नीचे दिये जा रहे हैं..

सबसे पहला और मुख्य कारण होता है पुरूष के अंदर आत्मविश्वास की कमी और खुद के द्वारा ही बनाई गई हीनभावना। कभी-कभी कभार पहली बार सेक्स करते समय अत्यधिक जोश और उतावली के कारण भी शीघ्रपतन हो जाता है और पुरूष तत्काल स्वयं ही धारण बना लेता है कि उसे सेक्स समस्या (शीघ्रपतन रोग) हो गई है। इसलिए जब भी वह सेक्स (Sex) करता है, तो संकोच और घबराहट में उसका वीर्य जल्दी छूट जाता है।

दूसरा मुख्य कारण है बचपन की गलतियां जैसे- हस्तमैथुन। यह आदत बनी रहने पर शीघ्रपतन की समस्या हो जाती है।

Shighrapatan Ka Gharelu Ilaj

तीसरा कारण अत्यधिक कामुक प्रवृति का होना, जिससे हर वक्त दिमाग में सेक्स ही छाया रहता है और इसी उत्सुकता में वीर्य शीघ्र स्खलित हो जाता है।

अश्लील फिल्में, तस्वीर या साहित्य देखने से व पढ़ने से भी शीघ्रपतन की ओर का रास्ता खुद-ब-खुद बन जाता है। दरअसल होता यह है कि अश्लील फिल्म देखकर या अश्लील गंदी किताबें देखकर व पढ़ने के बाद दिमाग में सेक्स इस कदर हावी हो जाता है, कि पुरूष की उत्तेजना सातवें आसमान पर पहुंच जाती है, इसलिए वह स्त्री के साथ सेक्स में उग्र रूप धारण कर लेता है और जल्दी स्खलित हो जाता है।

मानसिक व कोई अंदरूनी शारीरिक रोग जैसे- कोई पुराना रोग, लंबे समय से दवाओं का सेवन, वीर्य का पतलापन, लिंग की कमजोर नसें आदि।

यह भी पढ़ें- स्वप्नदोष

शीघ्रपतन का देसी घरेलू इलाज-

Shighrapatan Ka Gharelu Ilaj

1. डेढ़ ग्राम कुलीजन का चूर्ण 10 ग्राम शहद में मिलकर चाटें, ऊपर से गाय के दूध में शहद मिलाकर पीने से शीघ्रपतन नहीं होता है।

2. गिलोस का सत और बंशलोचन समान मात्रा में मिलाकर अच्छे से पीस लें। 2 ग्राम दवा खाने शीघ्र वीर्य स्खलित होेन की समस्या नहीं रहती।

3. इमली के बीज भूनकर बराबर मात्रा में शक्कर मिलाकर रख लें। 6 ग्राम चूर्ण, गाय के दूध के साथ शीघ्रपतन के रोगी को दें। कुछ ही दिनों में यह समस्या छू मंतर हो जायेगी।

4. बरगद के कच्चे फलों को छाया में अच्छे सुखा लें। सूख जाने के बाद इसका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण की 10 ग्राम मात्रा सुबह के समय गाय के दूध में मिलाकर सेवन करें। कभी भी शीघ्रपतन नहीं होगा।

5. भोजन के बाद पके हुए 2 केले में 2-4 बूंद शहद मिलाकर खाने से वीर्य की वृद्धि होती है, वीर्य गाढ़ा और मजबूत बनता है, जिस कारण वीर्य को रोकने में मदद मिलती है और सेक्स के समय जल्दी वीर्य स्खलित नहीं होता।

यह भी पढ़ें- सफेद पानी (ल्यूकोरिया)

6. 3 ग्राम सूखा धनिया, ) ग्राम छोटी इलायची के बीज और 2 ग्राम मिश्री पीसकर सुबह-शाम पाी के साथ खाना शीघ्रपतन में लाभकारी होता है। यह एक खुराक है।

7. गोखरू, सूखे आँवलें तथा गिलोय समभाग लेकर बारीक पीस लें। 2 ग्राम चूर्ण में घी तथा शक्कर मिलाकर खाने से शीघ्रपतन में बहुत लाभ पहुंचता है।

सेक्स समस्या से संबंधित अन्य जानकारी के लिए इस लिंक पर क्लिक करें..http://chetanclinic.com/

Summary
Shighrapatan Ka Gharelu Ilaj
Article Name
Shighrapatan Ka Gharelu Ilaj
Description
केवल पुरूषों के लिए हिंदी में ब्लाॅग, जानिए शीघ्रपतन क्यों होता है? Shighrapatan Ka Gharelu Ilaj
Author
Publisher Name
Chetan Anmol Sukh
Publisher Logo

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »